सोमवार | मई २१, २०१८ तक के समाचार
बड़ी ख़बरें
@legend
नवीनतम
स्वच्छ और ईमानदार दिल्ली हमारा सपना
अरविंद केजरीवाल कहते हैं कि उनका विजन दिल्ली को रिश्वतखोरी से मुक्त, सेवाओं और निर्माण का केंद्र बनाना। पढ़ें उनके लेख।
अरविंद केजरीवाल का बिजनेस क्लास
जिस अरविंद केजरीवाल ने- मैं हूं आम आदमी का नारा दिया था, अब वही बिजनेस क्लास में हवाई यात्रा कर रहे हैं। इस पर सोशल मीडिया में बहस चल पड़ी है।
दिल्ली चुनाव, जंतर मंतर आबाद
दिल्ली चुनाव की तारीख आने से पहले ही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता कमर कसने लगे हैं। उनसे जंतर-मंतर आबाद हो गया है। यहां से आप ने चुनावी अभियान का आग़ाज़ कर दिया है।
योगेन्द्र ने दिया इस्तीफा
हरियाणा प्रदेश संयोजक नवीन जयहिंद ने कारण बताओ नोटिस के जवाब में पार्टी के वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव पर प्रतिशोध की भावना से काम करने के आरोप जड़े हैं।
आप से दिल्ली हुई दूर
कुछ महीने पहले की बात है। दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी को सिर पर बिठाया था। अब उसे जमीन पर ला छोड़ा है।
गंगा के अपमान से आहत बनारसी: तबरीद
चौंकाने वाली बात यह है कि पत्रकार हाशमी शम्स तबरीद ने जो बातें बताई हैं वह केजरीवाल के दावों से ठीक उलट है।
वाराणसी में सोमनाथ भारती से झड़प
वाराणसी का चुनावी तापमान इतना बढ़ गया है कि अपनी बात कहना जोखिम मोल लेने के बराबर है। या फिर सोमनाथ भारती विवादों में रहना पसंद करते हैं।
शाजिया इल्मी का धर्मनिरपेक्ष चेहरा
आप की तरफ से मनीष सिसोदिया का बयान आया है। उन्होंने शाजिया इल्मी के बयान की आलोचना की है। पर कई लोग इसे राजनीति ही मान रहे हैं।
विरोधियों से परेशान केजरीवाल
वाराणसी में केजरीवाल किस कदर परेशान हैं इसका अंदाज इस बात से भी लगाया जा सकता है कि भारी विरोध के बाद उन्हें अपना बसेरा बदलना पड़ा।
त्यागपत्र देना जल्दबाजी थी: अरविंद केजरीवाल
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देने का फैसला एक जल्दबाजी थी।
@legend
सर्वाधिक लोकप्रिय
अब डर रहे हैं अरविंद केजरीवाल
दिल्ली विधानसभा चुनाव से पखवाड़े भर पहले ‘आम आदमी पार्टी’ (आप) के नेता अरविंद केजरीवाल ने माना है कि गांधीवादी नेता अन्ना हजारे से अलग होने के बाद वे कमजोर हुए हैं। साथ ही जनता की बढ़ती आशाओं से डर रहे हैं।
हार की जीत
हार जायें, हवा हो जायें या जीत जायें। इन तीनों स्थितियों को छोड़ दें तो अरविंद केजरीवाल ने राजनीति को बदलने का साहसिक प्रयास तो किया ही।
सुन्नी वोट के लिए बरेली पहुंचे केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को समाजवादी पार्टी की सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री मौलाना तौकीर रजा खां से मुलाकात करने बरेली पहुंचे। उन्होंने मौलाना तौकीर रजा खां से दिल्ली चुनाव के प्रचार में मदद व समर्थन मांगा।
आप का पाप
अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए अरविंद केजरीवाल ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर देश की जनता को गुमराह किया है। उनका लक्ष्य भ्रष्टाचार को खत्म करना नहीं है, बल्कि यह उनका चुनावी एजेंडा है।
धंधे की राजनीति समझते हैं बनारसी
बनारस के लोग जनता की राजनीति और धंधे की राजनीति का फर्क समझते और समझाते आए हैं। इस बार भी उन्हें नई राय दिखानी है।
गंगा के अपमान से आहत बनारसी: तबरीद
चौंकाने वाली बात यह है कि पत्रकार हाशमी शम्स तबरीद ने जो बातें बताई हैं वह केजरीवाल के दावों से ठीक उलट है।
खबर पोस्ट करें | सेवा की शर्तें | गोपनीयता दिशानिर्देश| हमारे बारे में | संपर्क करे |
Back to Top