रविवार | नवंबर १९, २०१७ तक के समाचार
@legend
नवीनतम
आइस बकेट का भारतीय जवाब राइस बकेट
चावल पका हो या कच्चा यह भी कोई मायने नहीं रखता है। आप पुलाव बिरयानी कुछ भी दे सकते हैं।
मड़ियाॅव की 'रेड ब्रिगेड'
दिसंबर 2012 में नई दिल्ली में 23 वर्षीया छात्रा के साथ हुए निर्मम सामूहिक बलात्कार के बाद इनकी संख्या कई गुना बढ़ गई है।
सासंदों ने देवभाषा में ली शपथ
केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, जल संसाधन मंत्री उमा भारती और स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने लोकसभा में संस्कृत भाषा में शपथ ली।
आशा की किरण: तिहाड़ के कैदियों को मिली नौकरी
तिहाड़ जेल के कैदी पढ़ाई के जरिए जिंदगी संवारने पर विचार करने लगे हैं। आज जो कुछ बदलाव तिहाड़ में दिख रहा है उसका श्रेय किरण बेदी को ही है।
बेटी के जन्म पर एक अनूठा रिवाज
कन्या भ्रूण हत्या की घटनाएं रह-रहकर अखबारों की सुर्खियां बनती रहती हैं। ऐसे में बिहार के भागलपुर जिले में स्थित धरहरा गांव के लोगों ने एक अनूठ प्रयोग किया है, जिसके केंद्र में बेटी और वृक्ष है।
एकला चलो रे...
बात दुमका जिले के जरमुंडी ब्लाक स्थित विशुनपुर-कुरूआ गांव की है। यहां पानी का घोर अभाव था। श्यामल चौधरी ने कड़ी मेहनत कर एक तालाब ही खोद डाला, जिससे अब सिंचाई का पानी उपलब्ध है।
अंधी दौड़ के बीच सार्थक कोशिश
यह झारखंड के जिरवा पंचायत की कहानी है। यहां लोगों ने करीब पांच सौ हेक्टेयर क्षेत्र में जंगलों को पुनर्जिवित कर ‘सामुदायिक वन प्रबंधन’ का अनूठा प्रयोग किया है।
न बनाएंगे पार्टी, न करेंगे अरविंद का प्रचार: अन्ना हजारे
“कोई पार्टी बनाने या चुनाव लड़ने की जरूरत नहीं है, बल्कि लोगों को एक विकल्प देने की आवश्यकता है। जनता में बदलाव लाने की शक्ति है। बस हमें उन्हें जागरूक करने का काम करना है।“ अन्ना हजारे ने यह बात कही है।
सरकार में नैतिक बल नहीं: जनरल वी.के.सिंह
“देश में लोकतंत्र को दोबारा स्थापित करने का समय आ गया है। आप जेपी के नारे ‘सिंहासन खाली करो जनता आती है’ को याद करें।” पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वी के सिंह ने जंतर मंतर पर अन्ना हजारे के मंच से यह बात कही।
हम कुर्बानी देने आए हैं: अरविंद केजरीवाल
“हम कुर्बानी देने आए हैं, अस्पताल जाने के लिए यहां नहीं आए।” अनशन के सातवें दिन टीम अन्ना के प्रमुख सदस्य अरविंद केजरीवाल ने तल्खी भरे शब्दों का इस्तेमाल कर यह बात कही। दूसरी तरफ सरकार में हलचल है।
@legend
सर्वाधिक लोकप्रिय
मड़ियाॅव की 'रेड ब्रिगेड'
दिसंबर 2012 में नई दिल्ली में 23 वर्षीया छात्रा के साथ हुए निर्मम सामूहिक बलात्कार के बाद इनकी संख्या कई गुना बढ़ गई है।
आशा की किरण: तिहाड़ के कैदियों को मिली नौकरी
तिहाड़ जेल के कैदी पढ़ाई के जरिए जिंदगी संवारने पर विचार करने लगे हैं। आज जो कुछ बदलाव तिहाड़ में दिख रहा है उसका श्रेय किरण बेदी को ही है।
सासंदों ने देवभाषा में ली शपथ
केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, जल संसाधन मंत्री उमा भारती और स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने लोकसभा में संस्कृत भाषा में शपथ ली।
आइस बकेट का भारतीय जवाब राइस बकेट
चावल पका हो या कच्चा यह भी कोई मायने नहीं रखता है। आप पुलाव बिरयानी कुछ भी दे सकते हैं।
बेटी के जन्म पर एक अनूठा रिवाज
कन्या भ्रूण हत्या की घटनाएं रह-रहकर अखबारों की सुर्खियां बनती रहती हैं। ऐसे में बिहार के भागलपुर जिले में स्थित धरहरा गांव के लोगों ने एक अनूठ प्रयोग किया है, जिसके केंद्र में बेटी और वृक्ष है।
अंधी दौड़ के बीच सार्थक कोशिश
यह झारखंड के जिरवा पंचायत की कहानी है। यहां लोगों ने करीब पांच सौ हेक्टेयर क्षेत्र में जंगलों को पुनर्जिवित कर ‘सामुदायिक वन प्रबंधन’ का अनूठा प्रयोग किया है।
एकला चलो रे...
बात दुमका जिले के जरमुंडी ब्लाक स्थित विशुनपुर-कुरूआ गांव की है। यहां पानी का घोर अभाव था। श्यामल चौधरी ने कड़ी मेहनत कर एक तालाब ही खोद डाला, जिससे अब सिंचाई का पानी उपलब्ध है।
रोक ना पाए जंतर मंतर पे लोगों का सैलाब
अन्ना आंदोलन के चौथे दिन भी लोगों का बड़ा सैलाब जंतर मंतर पंहुचा। लोग काफी उत्साहित हैं। लोग देश भक्ति और कुछ कर गुजरने के भावना से ओत-प्रोत दिखें।
हम कुर्बानी देने आए हैं: अरविंद केजरीवाल
“हम कुर्बानी देने आए हैं, अस्पताल जाने के लिए यहां नहीं आए।” अनशन के सातवें दिन टीम अन्ना के प्रमुख सदस्य अरविंद केजरीवाल ने तल्खी भरे शब्दों का इस्तेमाल कर यह बात कही। दूसरी तरफ सरकार में हलचल है।
अन्ना का अनशन, जंतर मंतर पर हलचल
रविवार का दिन है। स्थान दिल्ली का जंतर मंतर। जहां अन्ना अनशन पर बैठे हैं। सरकार से खफा हैं। कह रहे हैं कि वह गूंगी और बहरी है।
खबर पोस्ट करें | सेवा की शर्तें | गोपनीयता दिशानिर्देश| हमारे बारे में | संपर्क करे |
Back to Top