सोमवार | मई २१, २०१८ तक के समाचार
बड़ी ख़बरें
@legend
नवीनतम
टूजी पर कांग्रेस के बोल, जनता सुन रही है
एक बार फिर कांग्रेस अपनी आदत से लाचार नजर आई। टूजी मामले पर विशेष अदालत का फैसला आया तो उसके नेता लंबी-लंबी बात करने लगे हैं। वहीं देश की जनता अभी उन्हें सुन रही है।
गुजरात में बात बात में बिगड़ गई बात
इस बात की चर्चा लोग कर रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी गुजरात विधानसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की बराबरी कर सकती थी, लेकिन गलत रणनीति और आकर्षक व्यक्तित्व के आभाव में वह अंत में पिछड़ गई। वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विकल्प नहीं ढूंढ् पाई।
देश रिफार्म के लिए तैयार है: नरेंद्र मोदी
मेरे लिए खुशी है कि गुजरात छोड़ने के बाद कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से गुजरात को संभाला है, ये मेरे खुशी की बात है। मेरे आने के बाद भी गुजरात में विकास जारी है।इस क्रम में उन्होंने एक नारा दिया- जीतेगा भाई जीतेगा, विकास ही जीतेगा।- नरेन्द्र मोदी (पीएम)
राहुल का गब्बर राग विफल गया
गुजरात में राहुल गांधी का गब्बर राग विफल रहा। वहां के लोगों ने उनकी बात को एक सीमा तक ही महत्व दिया। सत्ता उनके हाथ नहीं सौंपी। विकास के लिए नरेन्द्र मोदी पर ही भरोसा दिखाया है।
20 दिसंबर 2012 को गुजरात ने इतिहास लिखा
ठीक पांच साल पूरा होने में दो दिन बाकी है, लेकिन विधानसभा चुनाव की गिनती शुरू होने वाली है। पांच साल पहले 20 दिसंबर को सुबह-सबरे तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था- ‘पीछे मुड़ कर देखने की जरूरत नहीं, आगे देखें। हमें अनंत उर्जा, हिम्मत और धैर्य चाहिए।’ आज परिणाम सामने हैं।
हारा मन फुदकन में खोजे चेतन
गुजरात चुनाव एक उम्मीद थी कि परिणाम कुछ भी हो, केंद्र में विपक्ष मजबूत होकर उभरेगा। लेकिन ऐसा लग रहा है कि परिणाम से वे लोग निराश ही होंगे, जो मजबूत और आदर्श विपक्ष को जरूरी मानते हैं।
कांग्रेस अध्यक्ष: चेहरा बदला, परिवार वही
राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी 132 साल के होने का दावा करती है। इसके बावजूद नेहरू-गांधी परिवार से अलग वह अपना अध्यक्ष खोजने में विफल है। वह एक परिवार पर आश्रित है। विरोधी पार्टियों का यही आरोप है।
विवाद में रहना खूब जानते हैं राहुल गांधी
कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी की एक बड़ी खासियत है। विवाद पैदा करना उनके बाएं हाथ का काम है। कभी अध्यादेश को फाड़ने की बात कह कर, तो कभी इंटरव्यू देकर।
कश्मीर का स्पष्ट संकेत
संसदीय उपचुनाव का आभासी बहिष्कार यह दिखाता है कि किस तरह से कश्मीर के लोग भारत सरकार से असंतुष्ट हैं।
हत्या से पहले आत्महत्या कर लेगी आप: योगेन्द्र यादव
आम आदमी पार्टी की राजनीतिक उनके पुराने सहयोगी चिंतित हैं। उनका मानना है कि आम आदमी पार्टी को खत्म करने की कोशिश हो रही है, लेकिन यह पार्टी उससे पहले ही खुद को खत्म करने पर उतारू है।
@legend
सर्वाधिक लोकप्रिय
गोधरा कांड का सच?
सुप्रीम कोर्ट की तरफ से गठित एसआईटी व नानावती कमिशन ने महमूद हुसैन कलोटा को गोधरा नरसंहार का मास्टरमाइंड करार दिया था। वह गोधरा नगरपालिका का अध्यक्ष था।
‘आप’ ने खेल के नियम बदले: योगेंद्र यादव
दिल्ली के एक हॉल में आम आदमी पार्टी (आप) के विधानसभा चुनाव के दावेदार उम्मीदवारों की बैठक चल रही थी। यहां आम आदमी पार्टी पहली बार चुनाव लड़ रही है।
सोलहवीं लोकसभा में होंगी 61 महिलाएं
भारत के संसदीय इतिहास में इस बार सबसे अधिक महिलाएं संसद में होंगी। 16वें आम चुनाव में 61 सीटों पर महिलाओं ने जीत दर्ज की है।
राम मंदिर बनवाना चाहते थे नरसिंह राव
“भगवान राम सबके हैं। हमारी पार्टी अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए प्रतिबद्ध है। राजीव गांधी ने उसका शिलान्यास करवाया था।” यह बात किसी और ने नहीं, बल्कि पूर्व प्रधानमंत्री नरसिंह राव ने कही थी।
केजरीवाल का अनशन, मीडिया दूर जनता करीब
मीडिया की तरफ से नजरअंदाज होने के बावजूद आम आदमी पार्टी के संयोजनक अरविंद केजरीवाल का अनशन रंग ला रहा है। धीरे-धीरे दिल्ली की हवा बदल रही है।
संघ से नेहरू परिवार का टकराव
आज नेहरू परिवार और संघ परिवार में तीखी नोकझोंक क्यों हैं? कहीं यह अस्तित्व की लड़ाई तो नहीं है? जिसके मूल में सोनिया गांधी हैं।
खबर पोस्ट करें | सेवा की शर्तें | गोपनीयता दिशानिर्देश| हमारे बारे में | संपर्क करे |
Back to Top